उत्तराखंडऋषिकेशक्राइमजन की बातताजा खबरदेहरादूनलेटेस्ट खबरेंवायरल

सांसी गैंग के शातिर टप्पेबाज को पुलिस ने धर – दबोचा,2 सदस्य गिरफ्तार और 3 चल रहे फरार

AVP Uk डेस्क।

ऋषिकेश। ऋषिकेश पुलिस व एस.ओ.जी देहात की संयुक्त टीम के द्वारा, टप्पेबाजी करने वाले सांसी गैंग के 02 सदस्य सरगना को रोहतक हरियाणा से गिरफ्तार किया है। साथ ही घटना से संबंधित माल बरामद भी किया गया हैं। वही 03 अन्य अभियुक्त अभी वांछित बताए जा रहें है।

बीते 27 अप्रैल 2022 को बटाला रोड गुमानीवाला ऋषिकेश निवासी के द्वारा कोतवाली ऋषिकेश पर एक शिकायती प्रार्थना पत्र दिया गया। जिसमें बीते 25 अप्रैल 2022 को परिजन के साथ पौड़ी से ऋषिकेश आते हुए ऋषिकेश में बस अड्डा के पास ऑटो में बैठकर घर आते समय 4-5 व्यक्ति के द्वारा, जो कि बाहर के लग रहे थे। बताया कि उक्त लोगों ने ऑटो में अटैची से ज्वेलरी चोरी कर लेने के संबंध में जानकारी दी है।

शिकायतकर्ता की उक्त शिकायत पर कोतवाली ऋषिकेश में तत्काल मुकदमा अपराध संख्या 195/22 धारा-379 आईपीसी पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ की गई। जिस पर पुलिस उपमहानिरीक्षक / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद देहरादून के द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए चोरी हुई। ज्वेलरी एवं अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया। जिसके अनुपालन में पुलिस अधीक्षक देहात व क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश द्वारा पुलिस टीम गठित कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। अधिकारी गणों से प्राप्त दिशा निर्देशों का पालन करते हैं गठित पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल के आस पास लगे सी.सी.टी.वी कैमरो का बारीकी से निरिक्षण किया गया। इस प्रकार की चोरी के मामलों में जेल गए पुराने अभियुक्तों का भौतिक सत्यापन करते हुए पूछताछ की गई। सी.सी.टी.वी कैमरो से प्राप्त फोटो मुखबीर तंत्र को देकर सक्रिय किया गया। सर्विलांस की सहायता ली गई।

उपरोक्त किए गए कार्यों से महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त करते हुए घटनास्थल से प्राप्त संदिग्धों की फोटो व फुटेज तस्दीक के आधार पर तथा मुखबिर तंत्र के माध्यम से घटना उपरोक्त में रोहतक हरियाणा के सांसी बिरादरी के एक गिरोह का उक्त घटना को कारित करना प्रकाश में आया। जिसके पश्चात गठित टीम रोहतक हरियाणा पहुंची। उक्त घटना को कारित करने वाले अज्ञात व्यक्तियों के घटनास्थल से प्राप्त फोटो फुटेज के आधार पर व्यक्तियों की तलाश में जानकारी करने हेतु स्थानीय मुखबिर तैनात किए गए व स्वयं भी तलाश में मामूर हुए। पूर्व से मामूर मुखबिर खास को सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे संदिग्ध व्यक्तियों की जानकारी हेतु पूछा तो बताया साहब यह लोग सांसी बिरादरी के लोग हैं जो जे.पी कॉलोनी तथा अन्य स्थानों पर रोहतक में रहते हैं तथा व्यावसायिक रूप से अलग-अलग जगहों पर जाकर ठगी की घटनाएं करते हैं। प्राप्त सीसीटीवी फुटेज फोटो के आधार पर घटना करने वाले संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान कराने के क्रम में एक फोटो में एक व्यक्ति की पहचान आकाश पुत्र रामकुमार निवासी जींद हरियाणा के रूप में करते हुए बताया कि यह कुछ दिन पहले ठगी की चोरी की घटना में थाना कोटद्वार पौड़ी गढ़वाल में पकड़ा गया था जो जमानत पर छूटा है। फोटो में दिख रहे अन्य व्यक्ति उसके घटना करने के साथी हैं, इनमें से एक जॉनी है, जिसका मामा राजेंद्र व्यवसायिक तौर पर ग्रुप बना कर ठगी की चोरी की घटनाएं करवाने के लिए आर्थिक रूप से सहायता करता है। कुछ दिन पहले यह लोग उत्तराखंड में ठगी की घटनाएं करके आए हैं। जॉनी को यहीं रोहतक में देखा गया है इसके साथ ही कुछ दिनों से दिखाई नहीं दे रहे हैं। उपरोक्त जानकारियां प्राप्त करने के पश्चात गठित टीम के द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया गया। जिसके बाद 24 मई 2022 को दो अभियुक्तों को अभियोग उपरोक्त से संबंधित चोरी किए गए माल के साथ गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार अभियुक्तों की पहचान इंदिरा कॉलोनी करतारपुर थाना रोहतक सिटी हरियाणा निवासी 43 वर्षीय राजेंद्र कुमार पासी पुत्र कपूरचंद से हुई है। जो कि गिरोह का सरगना है। वहीं दूसरे अभियुक्त की पहचान जेपी कॉलोनी रोहतक सिटी हरियाणा निवासी 29 वर्षीय जॉनी पुत्र स्व. रतन सांसी से हुई है। अभियुक्त जॉनी से 01 जोड़ी कान के झुमके पीली धातु के, एक जोड़ी कान के झुमके, एक मांग टीका, 1200/- रुपए नकद बरामद हुए है।

पुलिस टीम कोतवाली ऋषिकेश में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि सैनी, व.उ.नि. डी.पी.काला, उपनिरीक्षक जगदंम्बा प्रसाद, आरक्षी संदीप छाबड़ी, आरक्षी सचिन सैनी, आरक्षी नीरज शामिल रहे। वहीं एसओजी देहात टीम में SOG प्रभारी उपनिरीक्षक ओम कातं भूषण, आरक्षी नवनीत नेगी, आरक्षी मनोज कुमार, आरक्षी सोनी, आरक्षी कमल जोशी, महिला आरक्षी जमुना शामिल रहे।

पकड़े गए अभियुक्तों की जुबानी ( पूछताछ विवरण ) :

सर मैं ज्यादा पढ़ा लिखा नही हॅूं व कमाई का कोई जरिया भी नही है। रोजी रोटी करने के लिये मैं अपनी बिरादरी के लोगो को इकटठा कर उनको आने जाने, रहने व खाने पीने का किराया देकर ठगी व चोरी की घटनाऐं करवाता हॅूं। जिसमें मुझे काफी मात्रा में ज्वैलरी मिल जाती है। जिन्हे बेचकर मैं सभी को पैसे व कुछ छोटी ज्वैलरी देता हॅूं तथा मुझे भी अच्छी कमाई हो जाती है।अप्रैल 2022 में मैने आकाश पुत्र राम कुमार निवासी खरल जीन्द व मुकेश उर्फ लंगडा पुत्र राम प्रकाश निवासी हांसी तथा इनके अन्य साथियों को बीस हजार रूपये देकर ठगी व चोरी की घटना करने के लिये उत्तराखण्ड भेजा था। दिनांक 25.04.2022 को इन्होने ऋषिकेश में ठगी की घटना कर काफी मात्रा में ज्वैलरी चोरी की। इससे पहले दिनांक 24.04.2022 को कोटद्वार बस अड्डे में भी ठगी की घटना कर ज्वैलरी चोरी की थी। दिनांक 25.04.2022 के बादे यह फिर से घटना करने के लिये कोटद्वार गये थे तो आकाश कोटद्वार में पकड़ा गया था। ऋषिकेश की घटना में चोरी अधिकांश ज्वैलरी मुझे मिल गयी वह। जिसे मैने बाहर जाकर बेच दिया था कुछ ज्वैलरी मेरा भॉजा जोनी के पास रह गयी वह। जिसे उसने आज मुझे दिया कि, तो मैने उसमें से एक जोडी कान के झुमके तथा बेचकर मिले 700/00 रूपये उसे दिया तथा शेष ज्वैलरी व पैसे अपने पास रखे जो आपने बरामद किया है। उक्त दोनो से बरामदा माल मुकदमाती ज्वैलरी व ज्वैलरी बेचकर अर्जित धनराशि उक्त अभियोग में माल मुकदमाती होने पर अभियुक्त नामित कर अभियोग में धारा 411 भादवि की बढोत्तरी कर कारण गिरफ्तारी बताकर अभियुक्त जौनी को अन्तर्गत धारा 379/411 भादवि व अभियुक्त राजेन्द्र को धारा 411 भादवि में समय 18ः40 बजे विधिवत गिरफ्तार किया। अभि.गणों द्वारा अन्य स्थानों पर कारित घटनाक्रम के सम्बन्ध में समन्धित से जानकारी की जा रही है। अभियुक्त को समय से माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा।

  • Sky King Courier
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close